Spring Season in Hindi – वसंत ऋतु

Spring Season in Hindi – दोस्तों आज हम इस लेख के माध्यम से Spring Season in Hindi के बारे में जानने वाले है। इस लेख में  हम वसंत ऋतु के बारे जानने वाले है। जैसे वसंत ऋतु क्या है?, वसंत ऋतु कब आता है?, वसंत ऋतु के फ़ायदे?, Essay on Spring Season in Hindi इत्यादि जानकारी प्राप्त करेंगे हम इस लेख के माध्यम से तो कृपया आप हमारे इस लेख को ध्यान से और पूरा पढ़े धन्यबाद।

वैसे तो भारत में सामन्यतः 6 ऋतुएँ होती हैं, इसमें वसंत ऋतु एक मुख्य ऋतु माना जाता है। वसंत ऋतु को ऋतुओं राजा भी कहा जाता है। भारत में वसंत ऋतु आते ही सभी प्रकृति प्रसन्न हो जाती है। वसंत ऋतु भारत में ठण्ड का मौसम और गर्मी के मौसम के बिच का मौसम होता है। जो फरवरी और मार्च महीना में आता है। इस वातावरण में ठण्ड और सीतलता शीतलता का अनुभव होता है। वसंत ऋतु आने के बाद से ठंडा धीरे धीरे ख़त्म होने लगता है।

Spring Season in Hindi

Spring Season in Hindi – वसंत ऋतु

वसंत ऋतु हिंदू पंचांग के अनुसार यह वर्ष के अंत और प्रारंभ में होता है यह फ़रवरी के महीने की शुक्ल पंचमी से शुरू होता है और अप्रैल महीने के मध्य में समाप्त होता है। हमारे देश के मुख्य त्योहार में से एक होली वसंत ऋतु में ही मनाया जाता है। इस समय लोगो के साथ साथ गाँव के फ़सल भी खेत में सरसो, अरहर पिले और हरे रंग में हरे भरे दीखते है।

वसंत ऋतु में प्रकृति सभी जगह फूलों की खुशबू और रोमांच से हरी भरी रहती हैं। ऐसे में यह ऋतु सभी लोगो के लिए पसंदीदा ऋतु होता है। क्यूंकि इस ऋतु में  वसंत पंचमी, हनुमान  जयंती, रामनवमी, गुड फ्राइडे जैसे अन्य महत्वपूर्ण त्योहार भी मनाए जाते हैं। इसके अलावा भारतीय साहित्य और कला में वसंत ऋतु को एक महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है। 

वसंत ऋतु क्या है? – Spring Season in Hindi 

वसंत ऋतु एक मौसम है जो सामन्यतः फ़रवरी में पहली सप्ताह से शुरू होता है और अप्रैल की दूसरी सप्ताह तक होता है।  वसंत ऋतु में न तो बहुत अधिक ठण्ड होती है और न ही बहुत अधिक गर्मी इस ऋतु में तापमान में नमी आ जाती है। इसकी बिशेषता है की इसमें सभी फूल खिलने लगते है, पेड़ पौधो हरा भरा होने लगते है। जंहा बर्फीले क्षेत्र है उनके बर्फ का पिघलने लगता है। 

वसंत ऋतु का मतलब – वसंत का मतलब होता है, फूलों का गुच्छा और ऋतु का मतलब होता है, मौसम। यानि यह ऋतु फूलों और खुसिओ का ही मौसम होता है। काल्पनिक कथाओं में बसंत को कामदेव का पुत्र कहा गया है। कवि देव, बसंत ऋतु का वर्णन करते हुए अपने कबिता में लिखे है, प्रेम और सौन्दर्य के देवता कामदेव के घर पुत्र प्राप्ति होने के समाचार सुनते ही संपूर्ण प्रकृति खुशियों से झूमने लगती है। साथ ही खुद को सौंदर्य को सजा लेती है।

Spring Season Meaning in Hindi

Spring Season Meaning in Hindi – हिंदी में Spring का मतलब वसंत होता है। जिसे हम ऋतुराज, मधुमास, माघ के भी नाम से जानते है।  ऋतुराज, मधुमास, माघ ये तीनों वसंत के पर्यायवाची शब्द भी होते है। वसंत के नाम से ही हमारे भारतीय समाज में एक सांस्कृतिक और धार्मिक त्योहार वसंत पंचमी है।

हिंदी में Season का मतलब ऋतु होता है। जिसे हम मौसम, महीना, माह के नाम से भी जानते है। ऋतु का प्रायवाची शब्द सीज़न, रितु, मौसम, माह, महिना, मास, मासिक धर्म होता है। भारत में कुल 6 ऋतू होते है। सभी ऋतू का अपना अपना भारत के मौसम को बदलने का समय होता है। यानि आसान शब्दो में Spring Season Meaning in Hindi वसंत ऋतू या वसंत का मौसम होता है। 

भारत में ऋतुएँ कितनी होती है? Types Of Seasion in Hindi

वैसे तो भारत के बहुत से लोग है जो यह समझते है की भारत में तीन ऋतु यानि जाड़ा, गर्मी, बरसात ही होते है। ये ऋतुओं को आने से मौसम में काफी बड़े बदलाव होते है। लेकिन आपको बता दे की भारत में तीन से ज्यादा ऋतुएँ होती हैं। भारत के प्रत्येक ऋतु का अपना अलग-अलग सौंदर्य और विशेषता होती है।

भारत में ऋतुएँ कितनी होती है? – भारत में मुख्य 6 ऋतुएँ होती हैं जिनका नाम कुछ इस प्रकार है।

  1. वसंत ऋतु 
  2. ग्रीष्म ऋतु 
  3. वर्षा ऋतु  
  4. शरद् ऋतु 
  5. हेमन्त ऋतु 
  6. शिशिर ऋतु  

वसंत ऋतु – यह ऋतु भारत में फरवरी मार्च और अप्रैल तक होती है। इस ऋतु में मौसम में बहुत नमी आ जाती है।पेड़ पर नये पत्ते आने लगते है। फूल खिल जाते है खेतों में दूर दूर तक हरियाली नजर आता है। 

ग्रीष्म ऋतु – यह ऋतु भारत में अप्रैल से जुलाई तक होती है। इस मैसम धरती का तापमान बहुत अधिक बढ़ जाता है। जिससे गर्मी बहुत अधिक लगने लगता है। इस  ऋतु में अधिक मात्रा में गर्मी होने के कारण सूर्य और पृथ्वी होता है। क्यूंकि ग्रीष्म ऋतु में सूर्य पृथ्वी के नजदीक होता है जिससे अधिक गर्मी होता है। 

वर्षा ऋतु – यह ऋतु भारत में मई के अंतिम सप्ताह से शुरू होता है जो सितम्बर के अंतिम सप्ताह तक रहता है। इस ऋतु में बहुत अधिक वर्षा होता है। अधिक वर्षा होने से इस मौसम में धान की खेत की जाती है। गरमी के मौसम में उत्पन्न जलवाष्प ऊपर आकाश में जाकर फैलता है एवं ठंडा होते रहता है। जैसे जैसे यह जलवाष्प वायु ऊपर जाता है, उसमें जलवाष्प धारण करने की क्षमता कम होती जाती है, जिसके बाद वे वर्षा के रूप में गिर जाता है। 

शरद् ऋतु – यह ऋतु भारत में सितम्बर शुरू होती है जो 23 अक्टूबर तक रहता है। इस ऋतु में मौसम में बहुत बदलाव देखने को मिलता है जैसे लम्बी रातें, छोटे दिन, ठंडा मौसम, ठंडी हवा, बर्फ का गिरना, अचानक वर्षा होना। 

हेमन्त ऋतु – यह ऋतु भारत में नवंबर से शुरू होता है जो दिसम्बर तक रहता है। इस  ऋतु की खास बात यह है की इस ऋतु में कई महत्वपूर्ण  त्यौहार आते हैं जैसे करवा चौथ, धनतेरस, दीपावली, गोवर्धन पूजा इत्यदि। 

शिशिर ऋतु या शीत ऋतू – यह ऋतू भारत में जानवर महीना से सुरु हो जाती है जो फरवरी महीना तक रहती है। इस ऋतू में पेड़ के पत्ते झड़ने लगते हैं और चारों तरफ कुहरा छाया रहता है। इस ऋतू में मुख्यतः मकर संक्रांति, लोहड़ी, पोंगल जैसे त्योहार मनाया जाट है। 

वसंत ऋतु के फ़ायदे? – Spring Season in Hindi Benefit

वसंत ऋतू को आने से फसल हरे भरे हो जाते है। जो फ़सल अनाज देने वाले होते है वे फ़सल पकने लगते है। सरसों के खेत में दूर दूर तक सरसो पिले फूल नजर आते है। साथ ही इसकी खास बात यह है की इस शर्दी भी कम होने लगता है। इस ऋतू में कई तरह की त्योहार भी मनाया जाता है। इसीलिए तो इस ऋतू को ऋतू राज भी कहा जाता है।

इस ऋतू में किसान गन्ना, मक्का, फूल और कई सब्जियां भी उगाते है। ऐसे में बहुत से किसान के लिए यह मौसम बहुत लाभदायक होता है। इसी ऋतू में हम माँ सरस्वती की पूजा करते है। वसंत ऋतू में कुछ लोग कामदेव की पूजा भी करते हैं, माना जाता है कि बसंत कामदेव के मित्र हैं। इस ऋतू में दिन रात एक सम्मान होता है। इस समय प्रकृति की सुन्दरता बहुत अधिक होती है जिससे लोगों को भौतिक और मानसिक सुख मिलता है।

Essay on Spring Season in Hindi

Essay on Spring Season in Hindi – वसंत ऋतू शीत ऋतू के बाद आना वाला मौसम है। भारत में या ऋतू  फरवरी और मार्च में इसक आगमन होता है। बहुत ही सुहावनी ऋतु है यह क्यूंकि इस ऋतू में ना तो अधिक ठण्ड होता है और ना ही बहुत अधिक गर्मी। इस ऋतु को आने के बाद प्रकृति में कई प्रकार से बदलाव को देखने को मिलता है। इस ऋतू को ऋतुओं का राजा या ऋतुराज भी कहा जाता है।  

वसंत ऋतू बहुत मनमोहक मौसम होती है। मनमोहक होने का कारन पेड़, पौधे और खेतों के फसल है। इस मौसम में खेत में सरसों के फूल पौधे में गुलाब, गेंदा, सूरजमुखी का फूल खिल उठते है। ऐसे में गांव में इन सभी फूल से सुगंध आते रहते है। पेड़ में ने पत्तिया उग आती है। जिसे देख हमारे दिल खुश हो जाता है। 

वसंत ऋतू मनुष्य को भी बहुत प्रभावित करती है। इस समय हम सब उन वस्त्र पहनना छोड़ने लगते है। क्यूंकि वसंत ऋतू आने के बाद ठण्ड कम होने लगती है। इसी के साथ इस ऋतू में कई त्योहार जैसे वसंत पंचमी और होली इत्यादि त्योहार आ जाते है। जिसे हम सभी खुसी खुसी मनाते है। 

मनुष्य और प्रकृति के साथ साथ पशु-पक्षी भी इस ऋतू में बहुत खुश होते है। क्यूंकि पौधे फूल खिलने के कारन तितलियाँ फूलों पर मँडरा रही होती है। भौंरे गुण गुण करते हुए फूलों के आस पास घूम कर उनके रस को पि रहे है।  आम के पेड़ पर बैठ कर कोयल कुहू-कुहू आवाज दे रही है। 

यह भी पढ़े

Conclusion –  Spring Season in Hindi 

Spring Season in Hindi – दोस्तों हमें उम्मीद है की Spring Season in Hindi आपको पसंद आया होंगे। हमने इस लेख में बहुत आसान शब्दो में आप सभी को Spring Season in Hindi के बारे में लिख कर बताने का प्रयास किया है। यानि आप सभी इस लेख को बहुत आसानी से समझ सकते है।

साथ ही यह उन छात्रों के लिए बहुत काम का साबित होगा जिन्हे स्कूल या कॉलेज में Spring Season पर निबंध लिखने को मिलता है। यानि जो छात्र Essay on Spring Season in Hindi लिखना चाहते है उनके लिए यह पोस्ट बहुत काम की होगी।  आप हमें Facebook पर भी फॉलो कर सकते है। इसके अलावा इसमें Spring Season in Hindi के बारे में अन्य बहुत से जानकारी भी दी गई है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *