मिश्रण किसे कहते है? – Mishran Kise Kahate Hain

मिश्रण किसे कहते है? (Mishran Kise Kahate Hain) – आज के हम इस लेख में मिश्रण किसे कहते है? मिश्रण कितने प्रकार के होते है?, मिश्रण के क्या क्या गुण है? इत्यादि जानकारी के बारे जानेंगे इस लेख के माध्यम से तो यदि आप भी मिश्रण किसे कहते है? इसके जानकारी के लिए यंहा आए है, तो आप सही जगह पर है। यंहा से आप मिश्रण से जुड़ी सभी जानकारी बहुत आसानी से प्राप्त कर सकते है। 

Mishran Kise Kahate Hain

मिश्रण किसे कहते है? – Mishran Kise Kahate Hain

ठोस, द्रव और गैसों के आपस में मिलाने के बाद उससे बने नये पदार्थ को मिश्रण कहते है। अथवा अलग अलग पदार्थ को आपस में मिल जाना लेकिन उनके गुण में कोई परिवर्तन न होना मिश्रण कहलाता है।

आसान शब्दों में – जब है दो या दो से अधिक किसी योगिक या तत्व को आपस में मिलाते है तो इससे बनने वाले पदार्थ को मिश्रण कहते है। जैसे – चीनी और पानी को एक साथ मिलाने पर जो चीज हमें प्राप्त होता है वे मिश्रण होता है।

मिश्रण के उदाहरण

  • चीनी को पानी में मिलाने पर प्राप्त एक मिश्रण
  • पानी में नमक मिलाने पर प्राप्त एक मिश्रण
  • पानी में चीनी और नमक मिलाने पर प्राप्त एक मिश्रण
  • ठोस कणों को गैस में मिलने पर धुआं मिश्रण को प्राप्त होना।

मिश्रण के गुण क्या क्या है?

  • जब दो या दो से अधिक पदार्थ या योगिकआपस में मिलते है तो वो अपने रासायनिक गुणों को बनाए रखते है।
  • जब दो या दो से अधिक पदार्थ आपस में मिलते है तो उनकी मात्रा और अनुपात निश्चित नही होता है।
  • मिश्रण को बनाने वाले पदार्थ या योगिक ठोस, द्रव और गैस किसी भी अवस्था में हो सकते है।
  • मिश्रण में सामग्री की मात्रा किसी भी अनुपात में हो सकती है।

मिश्रण कितने प्रकार के होते है? Types Of Mixtures in Hindi

मिश्रण दो प्रकार के होते हैं।

  1. समांगी मिश्रण (Homogeneous Mixture)
  2. विषमांगी मिश्रण के गुण (Heterogeneous Mixture)

समांगी मिश्रण किसे कहते है?

वैसे मिश्रण जिसमे उपस्थित योगिक या पदार्थ को आँखों से नहीं देखा जा सकता है। ऐसे मिश्रण को समांगी मिश्रण कहते है। इसमें योगिक की एक ही अवस्था होते है मतलब समान अवस्था के पदार्थ मिलकर मिश्रण बनाते है। जैसे – नमक, चीनी और पानी का मिश्रण ऐसे मिश्रण को हम अपने आँखों द्वारा नहीं देख सकते है।

समांगी मिश्रण उदाहरण –

  • चीनी में पानी को मिलाना
  • पानी में नामक को मिलना
  • पेट्रोल और तेल का मिलना इत्यादि समंगी मिश्रण का उदाहरण है।

समांगी मिश्रण के गुण क्या क्या है? 

  • समांगी मिश्रण में टिंडल प्रभाव को नहीं दिखाते हैं।
  • सभी घोल एक समांगी मिश्रण के उदाहरण हैं।
  • समांगी मिश्रण से कणो को अलग नहीं किया जा सकता है।
  • समांगी मिश्रण में कण एक नैनोमीटर कम होते हैं।

विषमांगी मिश्रण किसे कहते है?

ऐसे मिश्रण जिनके कणो को हम अपनी आँखों से देख सकते है। ऐसे कणो या मिश्रण को अलग अलग देखा जा सकता है। जिसे हम विषमांगी मिश्रण कहते है। जैसे – पानी और तेल का मिश्रण जब हम तेल में पानी को मिलते है, तो तेल ऊपर हो जाता है और पानी निचे हो जाता है यह विषमांगी मिश्रण का उदाहरण है।

विषमांगी मिश्रण के उदाहरण –

  • नमक में सल्फ़र को मिलाना
  • तेल में पानी को मिलाना
  • दाल में चावल को मिला देना
  • चीनी और रेत को एक साथ मिलाना इत्यादि विषमांगी मिश्रण के उदाहरण है।

विषमांगी मिश्रण के गुण क्या क्या है?

  • विषमांगी मिश्रण में कणो को अलग किया जा सकता है।
  • इसमें है घटकों आसानी से पहचान सकते है।
  • इसके कणों का आकार 1 नैनोमीटर और 1 माइक्रोमीटर के बीच है।
  • विषमांगी मिश्रण टिंडल प्रभाव को दिखाते हैं।

मिश्रण कैसे बनते हैं?

मिश्रण तब बनते है जब दो या दो से अधिक पदार्थ या योगिक को आपस में मिला देते है तो मिलाने के बाद बनने वाले नये पदार्थ मिश्रण होते है। इसकी सबसे आसान उदाहरण चीनी, चयापति और दूध से चाय बनाना है। इसमें चाय एक मिश्रण है।

यह भी पढ़े 

निष्कर्ष – मिश्रण किसे कहते है?

आशा है कि StudentExam.in के माध्यम से मिश्रण किसे कहते है? (Mishran Kise Kahate Hain) यह जानकारी आपको पसंद आई होगी साथ ही इसे आप बहुत आसानी से समझ भी गए होंगे। इस लेख में मिश्रण किसे कहते है?, मिश्रण कितने प्रकार के होते है?, मिश्रण के गुण इत्यादि जानकारी दी गई है। अब आप हमें Facebook पर भी फॉलो कर सकते है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *