Koshika Ki Khoj Kisne Ki – कोशिका की खोज किसने की और कैसे की?

कोशिका की खोज किसने की (Koshika Ki Khoj Kisne Ki) – इस लेख में हम Koshika Ki Khoj Kisne Ki – कोशिका की खोज किसने की और कैसे की थी? कोशिका से जुड़ी सभी तरह की जानकारी जैसे कोशिका क्या है?, कोशिका की खोज किसने की और कैसे की?, कोशिका कितने प्रकार के होते है?, कोशिका के क्या कार्य है। इन सभी तरह की जानकारी प्राप्त करेंगे हम इस लेख के माध्यम से तो कृपया इस लेख को ध्यान से पढ़े।

Koshika Ki Khoj Kisne Ki

कोशिका की खोज किसने की थी? – Koshika Ki Khoj Kisne Ki

कोशिका की खोज सबसे पहले रॉबर्ट हुक (Robert Hooke) ने सन् 1665 में इंग्लैंड में की थी। उन्होंने कर्क की एक महीन (पतली) काट में मधुमक्खी के छत्ते के सम्मान कोठरिया देखीं जिसका नाम उन्होंने कोशिका रखा था।

हम ये तो बहुत आसानी से समझ गए की कोशिका की खोज सबसे पहले रॉबर्ट हुक ने सन् 1665 में की थी। लेकिन आगे हम इस लेख में जानेंगे की कोशिका क्या है?, कोशिका की खोज किसने और कैसे की थी?, कोशिका कितने प्रकार के होते है? ये सभी जानकारी आगे हम इस लेख में पढ़ेंगे।

कोशिका क्या है? – What is Cell in Hindi?

कोशिका हमारे शरीर या सजीवों के शरीर की रचनात्मक एवं क्रियात्मक इकाई है। यह सभी जीवित चीजों के बुनियादी निर्माण खंड हैं। हमारा शरीर खरबों कोशिकाओं से बना है। कोशिका हमारे शरीर में संरचना प्रदान करते हैं। ये हमारे भोजन से पोषक तत्व लेकर ऊर्जा में परिवर्तित करते हैं। कोशिका को हम इंग्लिश में सेल (Cell) कहते है। सेल शब्द का उपयोग लैटिन भाषा के ‘शेलुला’ शब्द से लिया गया है। जिसका मतलब एक छोटा कमरा होता है।

कुछ जीव जैसे अमीबा के शरीर एक ही कोशिका से बना होते हैं। एक ही कोशिका से बने रहने से इन्हे एककोशकीय जीव कहते हैं। जबकि कुछ जीव जैसे मनुष्य का शरीर खरबों कोशिकाओं से मिलकर बना होता है। उन्हें बहुकोशकीय जीव कहते हैं।

1839 में श्लाइडेन तथा श्वान ने कोशिका सिद्धान्त दुनिया के सामने प्रस्तुत किया जिसमे बताया की सभी सजीवों का शरीर एक या एक से अधिक कोशिकाओं से मिलकर बना होता है। इसमें उपस्थित सभी कोशिकाओं की उत्पत्ति पहले से उपस्थित किसी कोशिका से होता है।

कोशिका की खोज किसने की और कैसे की थी?

सबसे पहले कोशिका की खोज रॉबर्ट हुक ने 1665 में की थीं। रॉबर्ट हुक ने बोतल की कार्क की एक पतली परत के अध्ययन के आधार पर मधुमक्खी के छत्ते के समान कोठरी देखी जिसका नाम उन्होंने कोशिका रखा।

  • सन 1674 में एंटोनी वॉन ल्यूवेन्हॉक (Antonie van Leeuwenhoek) ने सबसे पहले जीवित कोशिका पर अध्ययन किया। एंटोनी वॉन ल्यूवेन्हॉक जीवित कोशिका को दाँत की खुरचनी में देखें थे। जिसके बाद से एंटोनी वॉन ल्यूवेन्हॉक को सबसे पहले जीवित कोशिका का खोजकर्ता कहा जाता है।
  • ब्रिटिश जीवविज्ञानी रॉबर्ट ब्राउन ने साल 1831 में कोशिका में केंद्रक का पता लगाया था। जिसको न्यूक्लियस या नाभिक भी कहा जाता है।
  • वनस्पति विज्ञान शास्त्री श्लाइडेन (Schleiden) और जन्तु विज्ञान शास्त्री श्वान कोशिका सिद्धांत को 1839 में प्रस्तुत किया कि कोशिका पौधों तथा जन्तुओं की भी रचनात्मक इकाई होते हैं।
  • रुडॉल्फ विर्चो (Rudolf Virchow) ने 1855 विचार प्रस्तुत किया की कोशिकाएँ हमेशा कोशिकाओं के विभाजन से ही बनती है या पैदा होती हैं।
  • लिन मार्गुलिस (Lynn Margulis) साल 1981 में कोशिका क्रम विकास में ‘सिबियोस’ पर Research Paper दुनिया के सामने प्रस्तुत किया।

कोशिका के प्रकार – Types of Cells in Hindi

कोशिका दो प्रकार की होती हैं।

  1. प्रोकैरियोटिक कोशिका (Prokaryotic Cell)
  2. यूकैरियोटिक कोशिका (Eukaryotic Cell)

प्रोकैरियोटिक कोशिका क्या हैं? – Prokaryotic Cell

प्रोकैरियोटिक कोशिका हमेसा स्वतंत्र होते है। ये केवल एक कोशिका वाले सूक्ष्मजीव में होते हैं। इनके बिच में कोई भी केन्द्रक नहीं होता हैं।

  • इस कोशिका में न्यूक्लाइड पाया जाता है, जो आनुवंशिक सूचनाएँ नियंत्रित करता है।
  • इन कोशिकाओं का व्यास 0.1 से 0.5 माइक्रोमीटर के बीच होता है।
  • कोशिका विभाजन होने पर प्रोकैरियोटिक कोशिका का निर्माण होता है।
  • प्रोकैरियोटिक कोशिका व्यास 0.1 से 0.5 माइक्रोमीटर के बीच होता है।

एक कोशिका वाले सूक्ष्मजीव का नाम – अमीबा, शैवाल या ऐल्गी, फफूंद या कवक, यीस्ट एवं जीवाणु, जीवाणु, पैरामीशियम आदि हैं।

यूकैरियोटिक कोशिका क्या हैं? – Eukaryotic Cell

यूकैरियोटिक कोशिका बहुकोशीय प्राणियों में पायी जाती हैं। ये एक से अधिक कोशिका वाले सूक्ष्मजीव में होते है। यूकैरियोटिक कोशिका में केन्द्रक एवं झिल्ली दोनों होता है।

  • इसमें केन्द्रक होता है। जो परमाणु झिल्ली के अंदर घिरे होते है।
  • इन कोशिकाओं में माइटोकॉन्ड्रिया होता है।
  • यूकैरियोटिक कोशिका का व्यास 10-100 माइक्रोमीटर के बीच होता है।
  • लैंगिक तथा अलैंगिक जनन होने से यूकैरियोटिक कोशिका निर्माण होता है।

बहुकोशीय कोशिका वाले जीव का नाम – मनुष्य, जानवर, भूमि पौधों और अधिकांश कवक बहुकोशिकीय जिव होते है।

कोशिका के क्या कार्य होता हैं?

कोशिका के कार्य – कोशिका के निम्न कार्य होते है।

  • सभी जीव जंतुओं का निर्माण कोशिका से ही होता है। कोशिका भित्ति और कोशिका झिल्ली दो ऐसे मुख्य घटक होते है जो कोशिका को सही आकार प्रदान करते है।
  • कोशिका झिल्ली विभिन्न पदार्थों के आयनों तथा अणुओं के कोशिका के अन्दर-बाहर आने-जाने का नियत्रंण करती है।
  • कोशिका बिभाजन होने से जीवों के शरीर का निर्माण तथा विकास होता है।
  • शरीर में बहुत से रासायनिक प्रक्रियाओं को पूरा करने के लिए कोशिका को ऊर्जा की आवश्यकता होती है। वनस्पति में यह ऊर्जा प्रकाश संश्लेषण के माध्यम से प्राप्त होता है। जानवरों में श्वसन प्रक्रिया से इसकी पूर्ति होती है।

कोशिका संरचना कैसे होता है?

कोशिकाएँ सजीव होती हैं तथा वे सभी काम को करती हैं। जिन्हे सजीव प्राणी करते हैं। ये आकार बहुत ही छोटे होते है तथा इनका आकृति गोलाकार, अंडाकार, कशाभिकायुक्त, स्तंभाकार, रोमकयुक्त, बहुभुजीय इत्यादि प्रकार की होती है। कोशिकाएँ जेली जैसी एक वस्तु द्वारा घिरी होती हैं। जेली जैसी वस्तु को कोशिका झिल्ली कहते हैं। ये झिल्ली किसी पदार्थ को कोशिका के अंदर आने-जाने पर नियंत्रित करती है।

कोशिका अंगो के नाम –

  • केंद्रक एवं केंद्रिका (Nucleus)
  • जीवद्रव्य (Protoplasm)
  • गुणसूत्र एवं जीन (Chromosomes and Genes)
  • गोल्गी सम्मिश्र या गोल्गी यंत्र (Golgi complex)
  • कणाभ सूत्र (Particle Formula)
  • हरित लवक (Chloroplast)
  • अंतर्प्रद्रव्य डालिका (Endoplasmic Duct)
  • राइबोसोम तथा सेन्ट्रोसोम (Ribosomes and Centrosomes)

यह भी पढ़े 

निष्कर्ष – कोशिका की खोज किसने की (Koshika Ki Khoj Kisne Ki)

हमें उम्मीद है की StudentExam.in के माध्यम से दी गई कोशिका की खोज किसने की (Koshika Ki Khoj Kisne Ki) यह जानकारी आपको पसंद आया होगा। हमने इस लेख में कोशिका की खोज किसने की और कैसे की थी?, कोशिका क्या है? कोशिका का निर्माण कैसे होता है। इत्यादि सभी जनकारी इस लेख में दी है। आप हमें Twitter पर भी फॉलो सकते है।

FAQs – Koshika Ki Khoj Kisne Ki

जीवित कोशिका की खोज किसने की और कब की थी?

जीवित कोशिका की खोज सबसे पहले 1674 में एंटोनी वॉन ल्यूवेन्हॉक (Antonie van Leeuwenhoek) ने की थी।

मनुष्य के शरीर में कितनी कोशिकाएं होती हैं?

जैसे की हम सभी जानते है की सभी जीवित प्राणी कोशिका से बने होते हैं। उनमें से कुछ एक सेल से बने होते हैं और कुछ बहुत से कोशिका का बने होते है। मनुष्य के शरीर में लगभग 60-90 ट्रिलियन कोशिका होता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *