Indian Army में भर्ती के नियम बदले।

भारतीय सेना में बहाली के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया जारी है

भारतीय सेना में बहाली के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया जारी है। फरवरी महीना में बिहार के मुजफ्फरपुर में होने वाली बहाली में शामिल होने के लिए अविवाहित प्रमाण पत्र भी सेना को सौंपना होगा। शरीरिक दक्षता की जांच के बाद शैक्षणिक व अवासीय प्रमाण पत्र के साथ सभी को अविवाहित होने का प्रमाण पत्र भी दिखाना होगा। अविवाहित होने का प्रमाण पंचायत क्षेत्र से आने वाले युवकों को मुखिया और शहरी क्षेत्र के युवकों को वार्ड पार्षद से लेना होगा। इनकी ओर से जारी प्रमाण पत्र ही बहाली के लिए मान्य होगा।

मुजफ्फरपुर भर्ती बोर्ड के निदेशक सेना मेडल कर्नल बॉबी जसरोटिया ने बताया कि..

मुजफ्फरपुर भर्ती बोर्ड के निदेशक सेना मेडल कर्नल बॉबी जसरोटिया ने बताया कि बहाली के लिए अविवाहित प्रमाण पत्र देना है। यह मुखिया व वार्ड पार्षद की ओर से बनाया गया ही होना चाहिए। उसपर उनका हस्ताक्षर व मुहर भी लगवाना अनिवार्य है। इस प्रमाण पत्र के नहीं होने पर अभ्यर्थी को कागजात की जांच से बाहर कर दिया जाएगा। इसके लिए एक फॉमेट भी जारी किया गया है जो सेना की वेबसाइट पर उपलब्ध है।

 

एक श्रेणी में ही मिलेगी छूट

बहाली को लेकर पहले चरण की प्रक्रिया जारी है। इस दौरान ARO में कई युवक अपनी परेशानी लेकर पहुंच रहे हैं। कई युवक सैनिक परिवार से जुड़े हैं तो कई NCC से  सर्टिफिकेट पास हैं। उन्होंने ARO से पूछा है कि क्या उनको दोनों श्रेणी का लाभ मिलेगा। इस पर ARO निदेशक ने स्पष्ट किया है कि किसी भी सूरत में अभ्यर्थी को एक ही श्रेणी में लाभ मिलेगा। इसलिए वे एक ही श्रेणी के लिए आवेदन करें।

अब माता या पिता को देना होगा शपथ पत्र

आचरण व अविवाहित होने के प्रमाण देने के अलावा अभ्यर्थियों के माता या पिता को भी एक शपथ पत्र सेना को सौंपना होता है। उन्हें यह बताना होता है कि उनका बेटा या संतान पर किसी प्रकार का कोई अपराधिक मुकदमा या केस किसी थाने या कचहरी में तो नहीं है। बताया कि बीते बहाली के दौरान कई ऐसे अभ्यर्थी पाये गए थे जो माता या पिता के शपथ पत्र के बगैर ही कागजात की जांच को आ गए थे। हालांकि, सेना ने उनलोगों को मौका देकर आगे की बहाली में शामिल कर लिया था।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top