CPCT Full Form in Maths in Hindi and English

CPCT Full Form in Maths in Hindi and English – दोस्तों आज हम इस लेख के माध्यम से जानेंगे CPCT Full Form in Maths यानि हम इसमें  CPCT का Full Form जानेंगे जो आपके Maths से जुड़ा हुआ है। इसके साथ साथ हम CPCT (Maths) क्या है? इसकी सभी जानकारी प्राप्त करेंगे इस लेक के माध्यम से तो यदि आप भी CPCT (Maths) से जुड़ी सभी जानकारी के बारे में जानना चाहते है तो इस लेख को अंत तक पढ़े।

CPCT Full Form in Maths

CPCT Full Form in Maths in Hindi and English

CPCT Full Form in Maths – Corresponding Parts of Congruent Triangle होता है। जिसे हिंदी में “सर्वांगसम त्रिभुज के संगत भाग” कहा जाता है। इस त्रिभुज (Triangle) को आप ऊपर दी गई Image में देख सकते है। 

CPCT Full Form in Maths in Hindi – Other Full Form

CPCT का Math में Full Form 5 तरह का होता है। जिसे आप निचे देख सकते है। वैसे तो CPCT का फुल फॉर्म बहुत होता है लेकिन हम केवल CPCT Full Form in Maths के बारे में आपको बता रहे है। 

  • CPCT Full Form in Maths –  Corresponding Parts of Congruent Triangle (सर्वांगसम त्रिभुज के संगत भाग)
  • CPCT Full Form in Maths – Corresponding Pareller Of Congruent Tringle (सर्वांगसम त्रिभुज के संगत समांतर)
  • CPCT Full Form in Maths – Congruent Parts Of Corresponding Tringle (संगत त्रिभुज के सर्वांगसम भाग)
  • CPCT Full Form in Maths – Corresponding Parts of Congruent Tringle (सर्वांगसम त्रिभुज के संगत भाग)
  • CPCT Full Form in Maths – Corresponding Parts Of Convert Tringle (कन्वर्ट ट्रिंगल के अनुरूप भागों)

What is CPCT in Maths in Hindi

CPCT का मतलब होता है, सर्वांगसम त्रिभुजों के संगत भाग सर्वांगसम हैं। सर्वांगसम त्रिकोणमिति पर एक विवरण है। जिसमे कहा गया है कि यदि दो या दो से अधिक त्रिभुज सर्वांगसम हैं, तो उनके सभी संगत कोण और भुजाएँ भी सर्वांगसम यानि समान होती हैं।

सर्वांगसम त्रिभुजों के संगत भाग जिसे हम CPCT कहते है ये बराबर होते हैं। त्रिभुजों से संबंधित प्रश्नों को हल करने के लिए हम आमतौर पर संक्षिप्त शब्द यानि Short Word में CPCT का उपयोग करते हैं। 

CPCT Rules in Maths Hindi

Math में CPCT का नियम एक त्रिभुज की भुजाओं और कोणों को वास्तव में मापे बिना सर्वांगसमता का अनुमान लगाया जा सकता है। सर्वांगसमता के विभिन्न प्रकार के नियम है कुछ इस प्रकार से हैं।

  • SSS (Side-Side-Side) – SSS (पक्ष-पक्ष-पक्ष)
  • SAS (Side-Angle-Side) – SAS (पक्ष-कोण-पक्ष)
  • ASA (Angle-Side-Angle) – ASA (कोण-पक्ष-कोण)
  • AAS (Angle-Angle-Side) – AAS (कोण-कोण-पक्ष)
  • RHS (Right angle-Hypotenuse-Side) – RHS (दाहिने कोण-कर्ण-पक्ष)

(Side-Side-Side) SSS सर्वांगसमता क्या है?

यदि एक त्रिभुज की तीनों भुजाएँ दूसरे त्रिभुज की संगत तीन भुजाओं के तुल्य यानि समान हों, तो SSS नियम के अनुसार दोनों त्रिभुज सर्वांगसम कहलाते हैं।

(Side-Angle-Side) SAS सर्वांगसमता क्या है?

यदि एक त्रिभुज की भुजाओं के बीच सम्मिलित कोई दो भुजाएँ और कोण दूसरे त्रिभुज की संगत दो भुजाओं के बीच के कोण के समान हों, तो SAS नियम के अनुसार दोनों त्रिभुज सर्वांगसम कहलाते हैं।

(Angle-Side-Angle) ASA सर्वांगसमता क्या है?

यदि एक त्रिभुज के कोणों के बीच शामिल कोई दो कोण और भुजा दूसरे त्रिभुज के कोणों के बीच शामिल संगत दो कोणों और भुजा के बराबर हों, तो दोनों त्रिभुजों को ASA (Angle-Side-Angle) नियम के अनुसार सर्वांगसम कहा जाता है।

(Angle-Angle-Side) AAS सर्वांगसमता क्या है?

जब किन्हीं दो त्रिभुजों के दो कोण और एक असम्बद्ध (निरपेक्ष) भुजा बराबर हो तो वे सर्वांगसम कहलाते हैं।

(Right angle-Hypotenuse-Side) RHS सर्वांगसमता क्या है?

यदि किसी समकोण त्रिभुज का कर्ण और एक भुजा दूसरे समकोण त्रिभुज की एक भुजा और कर्ण के बराबर हो, तो RHS नियम के अनुसार दो समकोण त्रिभुज सर्वांगसम कहे जाते हैं।

सर्वांगसम त्रिभुज क्या होते हैं? – What is Congruent Triangles in Hindi

सर्वांगसम त्रिभुज वे त्रिभुज होते हैं जिनका आकार और आकृति समान होता है। इसका अर्थ है कि संगत भुजाएँ समान हैं और संगत कोण समान हैं। CPCT का मतलब सर्वांगसम त्रिभुजों के संगत भागों से है। CPCT का उपयोग प्रमेय में होता है। इसमें कहा गया है कि यदि दो या दो से अधिक त्रिभुज जो एक-दूसरे के सर्वांगसम हैं या लिया जाए तो संगत कोण और त्रिभुज की भुजाएँ भी एक-दूसरे के सर्वांगसम होते हैं।

यह भी देखें

Conclusion – CPCT Full Form in Maths in Hindi and English

दोस्तों हमें उम्मीद है की हमारे द्वारा दी गई CPCT Full Form in Maths की जानकारी आपको पसंद आया होगा। इस लेख में हम छात्रों के लिए CPCT Full Form in Maths में बताया है। इसके साथ – साथ CPCT से जुड़ी सभी जानकारी को आप सभी के साथ शेयर किया है। आप इस लेख जुड़ी अपनी राय हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते है। साथ ही आप हमें Facebook पर भी Follow कर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.